Saturday, August 2, 2008

मेरा प्यारा घोड़ा




क्या आपने मेरा प्यारा घोड़ा देखा है जो मेरी मस्ती की पाठशाला शुरू होते ही जाता है लकड़ी की kathi kathi पे घोड़ा ghode की dum पे जो mara hathoda douda douda douda घोड़ा dum उठा के douda लेकिन वो सिर्फ़ मेरा ही हो सकता है बताऊ केसे केसे ....ये देखो...........................


bola था न mene ki asa ghoda सिर्फ़ मेरा ही हो सकता है pathshala me आने wala मेरा घोड़ा or बस चल दी हमारी sawari लेकिन एक bat बताऊ इस ghode की dum ही नही है हा हा हा हा बिना dum का घोड़ा




2 comments:

रंजन said...

प्यारा घोड़ा है.. दुम नहीं है तो कोई बात नहीं...

रावेंद्रकुमार रवि said...

----------------------------------------

और इस घोड़े का सिर कहाँ है?
--
लगता है कि बहुत शर्मीला है!
--
ज़रा देखिए तो : ये घोड़े कैसे हैं?
चलता बहुत मटककर : रावेंद्रकुमार रवि का नया शिशुगीत

----------------------------------------